Friday 5 February 2016

दशहरा

चमचमाती बिजलियां 
बेतहाशा शोर 
बड़े बड़े लोहे के रथों पर सवार 
हथियार बंद लोगों का हुजूम 
भारी तमाशबीन भीड़ को चीर
जगह जगह घूमकर
कागजों के पुतले जलाते 
अट्टहास करते रहे 
बहुत सारे रावण 
साल दर साल